अन्य
Trending

Interesting Fact: हिंदू धर्म में बच्चों के मुंडन के पीछे है क्या वैज्ञानिक कारण,जानने के लिए पढ़े पूरी खबर

भारत में अक्सर लोग बच्चों का मुंडन संस्कार (Mundan Ceremony) करवाते हैं. अगर आपको आजतक ऐसा लगता था कि ये सिर्फ एक अंधविश्वास है या लोग सिर्फ दिखावे के लिए इसे करते हैं,

👆भाषा ऊपर से चेंज करें

भारत में कई धर्म के लोग रहते हैं,हर धर्म के अलग-अलग नियम-कायदे हैं। हिंदुओं में तो और भी कई नियम-कायदे (Hindu Rituals And Science) माने जाते हैं। चाहे बच्चे के जन्म की बात हो, या शादी-ब्याह या फिर अंतिम संस्कार। हर में कई तरह के रस्मों-रिवाज माने जाते हैं। अक्सर आपने देखा होगा कि जब भी किसी हिंदू के घर बच्चे का जन्म होता है,तो कुछ समय बाद बच्चे का मुंडन (Mundan Ceremony) करवाया जाता है। मुंडन को हिंदुओं के 16 संस्कारों में से एक माना जाता है।

Open Free Demat Account

क्यों करवाया जाता है बच्चे का मुंडन ?

अक्सर हिंदू परिवारों में जन्म के समय सुना होगा कि अगर बेटा हुआ तो फलाने जगह मुंडन करवाया जाएगा या ऐसी ही मुंडन से जुड़ी कई मन्नतें मान ली जाती है। जहां कई पढ़े-लिखे लोग इसे अंधविश्वास समझ लेते हैं, वहीं कई इसे दिखावा भी मानते हैं। लेकिन शायद ही आपको पता हो कि मुंडन करवाने के पीछे विज्ञान भी छिपा हुआ है। जी हां, अगर वैज्ञानिक दृष्टि से देखें, तो बच्चे का मुंडन काफी जरुरी है। आइये आज हम आपको इसी कारण के बारे में बताएंगे।

ये है वैज्ञानिक कारण-

  • जब मां के गर्भ में नौ महीने रहकर बच्चा इस दुनिया में आता है, तब उसके सिर पर कई जर्म्स होते हैं. इन जर्म्स और बैक्टेरिया को शैंपू से भी नहीं हटाया जा पाता है. इस वजह से बच्चों के बालों को मुंडवा दिया जाता है. इससे सारे जर्म्स और बैक्टेरिया हट जाते हैं।
  • बच्चों का मुंडन उनके बॉडी टेम्परेचर को भी कंट्रोल करता है. जब बच्चे का मुंडन होता है तो उसे फोड़े, फुंसी, दस्त जैसी बीमारियों से निजात मिलता है. साथ ही उसका सिर भी ठंडा हो जाता है।
  • मुंडन होने पर बच्चों के सिर से सारे बाल हट जाते हैं इससे धूप सीधे उसके माथे पर पड़ती है। ये धूप अच्छे के ब्रेन के विकास के लिए काफी फायदेमंद है. इससे कोशिकाएं एक्टिव होती है और नसों में खून का बहाव काफी अच्छे से होता है।
  • एक वैज्ञानिक धारणा ये भी है कि बच्चों के मुंडन होने से उन्हें दांत आसानी से आ जाते हैं। आमतौर पर जब बच्चे के दांत आते हैं तो उसे दस्त होने लगता है। साथ ही बुखार भी आ जाता है,लेकिन अगर मुंडन करवा दिया जाए तो दांत आने में ज्यादा तकलीफ नहीं होती।
Tags

Related Articles

Back to top button
Close