अजब गजब न्यूंजदिल्ली-NCRसिटी टुडे /आजकल
Trending

Amazing News: अब ये काम भी करने के लिए आगे आई एक कम्पनी

अंतरराष्ट्रीय व्यापार मेले में एक ऐसा भी स्टॉल जिसे देख आप एक बार तो कह उठेंगे क्या ऐसा भी होता है।

👆भाषा ऊपर से चेंज करें

कोरोना काल में जहां रिश्ते निभाए और बनाएं गए उससे कई ज्यादा रिश्ते टूटते भी नज़र आए। कोरोना काल में लोग अपनों के अंतिम संस्कार करने तक नहीं आए, कुछ की तो मज़बूरी थी चाहे वो पुलिस प्रशासन का उनकी सुरक्षा में उठाया गया कदम ही हो, लेकिन कुछ लोग तो जानबूझकर अपनों से दूर होते दिखे। अब आप सोच रहे होंगे कि हम इस विषय में आप से क्यूं ये चर्चा कर रहे हैं। तो आईये बताते हैं आपको। दरअसल आजकल दिल्ली के प्रगति मैदान में चल रहे अंतरराष्ट्रीय व्यापार मेले में एक ऐसा स्टॉल देखने को मिलेगा। जो आपको अचंभित कर देगा। एक ऐसी कंपनी मार्केट में आई है जो मरने के बाद होने वाले सारे क्रिया कर्म की जिम्मेदारी उठाएगी। मरने के बाद शव को जिस भी चीज़ की जरूरत होती है वो सब ये कम्पनी मुहैया करवाएगी। यानि मरने के बाद का सारा मैनेजमेंट ये कंपनी करेगी।
वंही बात अगर कंपनी के नाम की करें तो सुकांत फूयोनरल एमजीएमटी प्राइवेट लिमिटेड (Sukhant funeral MGMT PVT LTD) है। जानकारी के मुताबिक इसकी मेंबरशिप फीस 37500 रखी गई है। ये कम्पनी मरने के बाद शव के अंतिम संस्कार के लिए पंडित का इंतजाम, काँधा देने वाले, अर्थी के साथ राम नाम सत्य बोलने वाले, चिता जलाने वाले, और फिर अस्थि विसर्जित करने वालों का पूरा इंतजाम करेगी और तो और लोग मन मुताबिक अर्थी को भी तैयार करा सकते हैं, कुछ भी घटा या बढ़ा तो रेट ऊपर नीचे हो सकतें है यानि जैसा काम वैसा दाम।
आप ने देखा होगा कि लोगों के आपसी सम्बन्ध खत्म होते जा रहे हैं या फिर कुछ ऐसे लोग भी हैं जिनके बच्चे विदेश में बैठे हैं (सभी के नही) कुछ के पास अपने देश आने का समय तक नहीं है उनकी जरूरत को ध्यान में रखते हुए कम्पनी इस प्रोजेक्ट को लेकर आई है जानकारी के मुताबिक कम्पनी अभी तक 50 लाख तक का प्रॉफिट कमा चुकी है और पांच हजार लोगों का अंतिम संस्कार करा चुकी है।
जो बच्चे विदेश में बैठे हैं वो अपने माता या पिता के अंतिम संस्कार करने अपने देश नही आ सकते तो उनकी जिम्मेदारी को निभाने के लिए ये कम्पनी अंतिम संस्कार की सारी क्रिया को पूरा करेगी। जैसा क्लाइन्ट चाहेगा वैसे, कम्पनी की फीस कम ज्यादा हो सकती है।
-ओम कुमार
Tags

Related Articles

Back to top button
Close