photo galleryकाम की खबर (Utility News)दिल्ली-NCRदेश (National)राजनीति
Trending

Central Vista Project:सेंट्रल विस्टा एवेन्यू का उद्घाटन

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि आज गुलामी की एक और पहचान से मुक्ति मिली।

👆भाषा ऊपर से चेंज करें

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज गुरुवार को सेंट्रल विस्टा एवेन्यू (Central Vista Avenue) का उद्घाटन किया। इससे पहले पीएम मोदी ने शाम 7 बजे इंडिया गेट पर नेताजी सुभाष चंद्र बोस की प्रतिमा का अनावरण किया। आज से करीब तीन किमी से लंबा राजपथ नए रंग-रूप और नाम के साथ अब कर्तव्य पथ के रूप में जाना जाएगा। उद्घाटन के बाद अपने संबोधन में पीएम मोदी ने कहा कि आज गुलामी की एक और पहचान से मुक्ति मिली। आज अगर राजपथ का अस्तित्व समाप्त होकर कर्तव्यपथ बना है, आज अगर जॉर्ज पंचम की मूर्ति के निशान को हटाकर नेताजी की मूर्ति लगी है, तो ये गुलामी की मानसिकता के परित्याग का पहला उदाहरण नहीं है। ये न शुरुआत है, न अंत है। आज देश अंग्रेजों के जमाने से चले आ रहे सैकड़ों कानूनों को बदल चुका है। भारतीय बजट, जो इतने दशकों से ब्रिटिश संसद के समय का अनुसरण कर रहा था, उसका समय और तारीख भी बदली गई है। राष्ट्रीय शिक्षा नीति के जरिए अब विदेशी भाषा की मजबूरी से भी देश के युवाओं को आजाद किया जा रहा है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इंडिया गेट पर नेताजी सुभाष चंद्र बोस की 28 फुट ऊंची प्रतिमा का भी अनावरण किया। ग्रेनाइट पत्थर पर उकेरी गई इस प्रतिमा का वजन 65 मीट्रिक टन है। इस प्रतिमा को उसी स्थान पर स्थापित किया गया  है, जहां बीते 23 जनवरी पराक्रम दिवस पर नेताजी  की होलोग्राम प्रतिमा का अनावरण किया गया था।

       आजादी से पहले राजपथ को किंग्स वे और जनपथ को क्वींस वे के नाम से जाना जाता था। स्वतंत्रता मिलने के बाद क्वींस वे का नाम बदलकर जनपथ कर दिया गया था। जबकि किंग्स वे राजपथ के नाम से जाना जाने लगा। आजादी के 75 वर्ष पूरे होने के बाद अब इसका नाम कर्तव्य पथ कर दिया गया है। केंद्र सरकार का मानना है कि राजपथ से राजा के विचार की झलक मिलती है, जो शासितों पर शासन करता है। जबकि लोकतांत्रिक भारत में जनता सर्वोच्च। नाम में बदलाव जन प्रभुत्व और उसके सशक्तिकरण का एक उदाहरण है।
       सेंट्रल विस्टा आने वाले आगंतुकों को दिल्ली मेट्रो बस सेवा मुहैया कराएगी। यह सेवा नौ सितंबर से शुरू होगी। यात्री भैरों मार्ग से इस बस पर बैठकर सेंट्रल विस्टा पहुंचेंगे। दिल्ली मेट्रो ने एक बयान में कहा, दिल्ली मेट्रो द्वारा तैनात इलेक्ट्रिक बसें यात्रियों को भैरों मार्ग पर आगंतुकों को लेंगी और उन्हें नेशनल स्टेडियम सी हेक्सागन के गेट नंबर एक पर उतारेंगी। यहां से इंडिया गेट या सेंट्रल विस्टा चंद कदमों की दूरी पर है। यह सेवा शुरुआत में एक सप्ताह के लिए लाई जा रहा है। इस मार्ग पर 06 नंबर की बसें संचालित होंगी। ये बसें आगंतुकों के लिए शाम पांच बजे से रात नौ बजे तक उपलब्ध रहेंगी। भैरों मार्ग पर आगंतुकों को उठाने के लिए अंतिम बज रात नौ बजे पहुंचेगी।
Tags

Related Articles

Back to top button
Close