दुनिया (International)ब्रेकिंग न्यूज़
Trending

Russia-Ukraine War: राजधानी कीव की सड़कों तक पहुंची रूसी सेना, यूक्रेनी राष्ट्रपति बोले- आज की रात हम पर भारी

 यूक्रेनी अधिकारियों ने चेताया- घर से न निकलें

👆भाषा ऊपर से चेंज करें

डेस्क । पिछले तीन दिनों में रूसी सेना ने यूक्रेन पर चार तरफ से हमला कर उसकी सेना को पीछे हटने पर मजबूर किया है। हालांकि, राजधानी कीव अभी तक रूसी सेना के कब्जे से दूर रही थी। अब खुद यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोडिमिर जेलेंस्की ने चिंता जताई है कि कीव पर रूसी सेना के कब्जे का खतरा मंडरा रहा है। उन्होंने कहा कि आज की रात हमारे लिए सबसे कठिन होने वाली है, लेकिन हमें खड़े रहना होगा। बताया गया है कि जेलेंस्की को अमेरिका की तरफ से यूक्रेन छोड़ने का प्रस्ताव मिला था। लेकिन उन्होंने इसे ठुकरा दिया।

Free Demat Account

यूक्रेन में अंदर घुसी रूसी सेना, सड़कों पर युद्ध जारी
यूक्रेन की राजधानी कीव में रूसी सेना काफी अंदर तक घुस चुकी है। इस बीच एक रिपोर्ट में बताया गया है कि दोनों सेनाओं की जंग कीव की सड़कों तक पहुंच गई है। अब यूक्रेनी अधिकारी लोगों से अपील कर रहे हैं कि वे सड़कों पर न निकलें और घर में ही रहें। नागरिकों से खिड़की या बाल्कनी पर न आने के लिए कहा गया है, ताकि वे मलबे या गोली की चपेट में आने से बच जाएं।

 

मीनाक्षी लेखी बोलीं- अपने नागरिकों की सुरक्षा के लिए प्रतिबद्ध
विदेश राज्य मंत्री मीनाक्षी लेखी ने यूक्रेन से भारतीय छात्रों को निकाले जाने की कोशिशों का ब्योरा दिया है। उन्होेंने कहा कि 4,000 से ज्यादा लोग वापस आ गए हैं, लेकिन कुछ लोग अभी भी वहां फंसे हुए हैं। भारत अपने नागरिकों की सुरक्षा के प्रति प्रतिबद्ध है और हम लोगों को वहां से निकालने के लिए प्रयास कर रहे हैं,यूक्रेन का एयरस्पेस बंद है इसलिए हम भूमि मार्गों का उपयोग कर रहे। Read More:कीव के दहलीज़ पर रूसी सेना, यूक्रेन के राष्ट्रपति बंकर में छिपे

यूक्रेन से छात्रों को लाने का खर्च सरकार उठाएगी – राजनाथ सिंह
रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने यूक्रेन में फंसे भारतीय छात्रों को देश में लाने को सरकार की प्राथमिकता बताया है। उन्होंने कहा, “यूक्रेन में फंसे लोगों को भारत सरकार अपने खर्च पर लाएगी। वहां से कई लोग आ भी चुके थे। हमारे विदेश मंत्री एस जयशंकर ने यूक्रेन के विदेश मंत्री से बातचीत की है। उन्हें यहां सुरक्षित लाने की व्यवस्था चल रही है। हम चाहते हैं कि हालात सामान्य हों।”

 

यूक्रेन में फंसे छात्र रोमानिया के बुखारेस्ट एयरपोर्ट पहुंच चुके हैं। रूस की ओर से यूक्रेन पर जारी हमलों के बीच भारत सरकार ने एलान किया था कि वह अपने नागरिकों को बुखारेस्ट के जरिए निकालेगा। अब एयर इंडिया का विमान रूस की सीमा तक पहुंचने वाले भारतीयों को लेकर जल्द उड़ान भरेगा।

Tags

Related Articles

Back to top button
Close