देश (National)ब्रेकिंग न्यूज़
Trending

Agnipath Scheme Protests: सिंदराबाद स्टेशन पर 5000 युवाओं ने अचानक हमला बोला, ट्रेनों की बोगियां जलाईं, एक की मौत

अग्निपथ योजना के विरोध में हिंसक प्रदर्शनों के कारण भारतीय रेलवे (Indian Railway) की 200 ट्रेनों पर पड़ा है। शुक्रवार तक 35 ट्रेन कैंसिल की गई और 13 आंशिक तौर पर रद्द की गईं।

👆भाषा ऊपर से चेंज करें

Anti-Agnipath Scheme Protests: भारतीय सेना (Army, Airforce, Navy) में भर्ती के लिए लॉन्च हुई नई अग्निपथ योजना का तीसरे दिन भी कई राज्यों में विरोध जारी है। शुक्रवार को बिहार, उत्तर प्रदेश, हरियाणा, पश्चिम बंगाल और मध्य प्रदेश में प्रदर्शनकारी युवाओं की भीड़ ने रेलवे स्टेशनों पर तोड़फोड़ की और ट्रेनों की बोगियों को आग के हवाले कर दिया। अग्निवीरों की भर्ती की नई योजना का विरोध उत्तर भारत के तेलंगाना तक पहुंच गया। यहां के सिकंदराबाद स्टेशन में करीब 5000 युवाओं ने अचानक हमला बोल दिया।

Open Free Demat Account

प्रदर्शनकारियों ने कई ट्रेनों की बोगियों में तोड़फोड़ की। इतना ही नहीं वो एक ट्रेन के A1 कोच को आग लगाने की कोशिश कर रहे थे, जिसमें करीब 40 यात्री सवार थे। इनमें महिलाएं, बुजुर्ग और बच्चे भी शामिल थे। लेकिन रेलवे सुरक्षाबल और स्टेशन स्टॉफ की सूझबूझ से यात्री बाल-बाल बच गए। इसके बाद भीड़ को तितर-बितर करने के लिए पुलिस को फायरिंग करनी पड़ी। हिंसा में घायल करीब 13 लोगों को गांधी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। अस्पताल के सुपरिंटेंडेंट ने न्यूज एजेंसी को बताया कि घायलों में 4 लोगों को गोली लगी है, इनमें से एक ने इलाज के दौरान दम तोड़ दिया। Read More: नौकरी के साथ पढ़ाई जारी रख पाएंगे अग्‍न‍िवीर, NIOS ने नई स्कीम लॉन्च की

Agnipath Protest

हिंसक प्रदर्शनों से रेलवे को नुकसान
अग्निवीर योजना के नियम-शर्तों से नाराज युवा रेलगाड़ियों को निशाना बना रहे हैं। पिछले तीन दिन में प्रदर्शन के कारण रेलवे को खासा नुकसान हुआ है। भारतीय रेलवे (Indian Railway) ने बताया कि हिंसक प्रदर्शनों का असर 200 ट्रेनों पर पड़ा है। 35 ट्रेन कैंसिल की गई और 13 आंशिक तौर पर रद्द की गई हैं। जिसके कारण देशभर में रेलगाड़ियों के परिचालन पर असर पड़ा है और यात्रियों को भारी दिक्कतों का सामना कर पड़ रहा है।

पीएम युवाओं के धैर्य की अग्निपरीक्षा ना लें: राहुल
उधर, विपक्ष ने मोदी सरकार के द्वारा सेनाओं की भर्ती प्रक्रिया में किए बदलाव को युवाओं के भविष्य से खिलवाड़ करार दिया है। कांग्रेस नेता राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) युवाओं को अग्निपथ पर चलाकर उनके धैर्य की अग्निपरीक्षा ना लें। वहीं, सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने इस योजना को देश के भविष्य के लिए घातक करार दिया है। हालांकि, कई राज्यों में युवाओं की हिंसा के बाद केंद्र सरकार ने अग्निवीरों की भर्ती के लिए अधिकतम उम्र की सीमा सिर्फ एक बार के लिए 21 से बढ़ाकर 23 साल कर दी है।

Tags

Related Articles

Back to top button
Close