गुड़गांवदिल्ली-NCRनोएडाहेल्थ/फूड

AIIMS: बिना कोरोना जांच एम्स में भर्ती किए जाएंगे मरीज, प्रबंधन ने मांगी विभागों से यह जानकारी

ICMR के आदेश के अनुसार जल्द ही दिल्ली के अन्य अस्पताल भी भर्ती करने या सर्जरी से पहले रूटीन कोविड जांच बंद कर सकते हैं, डॉ. राम मनोहर लोहिया, लेडी हार्डिंग सहित अन्य अस्पताल भी विचार की दिशा में

👆भाषा ऊपर से चेंज करें

AIIMS: अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) दिल्ली में भर्ती होने वाले मरीजों के लिए राहत की खबर है। अब मरीजों को कोरोना जांच करवाने की जरूरत नहीं होगी। भर्ती होने वाले मरीजों और सर्जरी करवाने से पहले नियमित कोरोना जांच पर रोक लगा दी है। अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक डॉक्टर डीके शर्मा की ओर से जारी आदेश में कहा गया है, कि आईसीएमआर के दिशानिर्देश के अनुसार यह रोक लगाई गई है। फैसले से उन मरीजों को राहत मिलेगी, जिन्हें भर्ती होने या सर्जरी करवाने से पहले कोरोना जांच के लिए भटकना पड़ता था।

एम्स प्रबंधन से मिली जानकारी के अनुसार कोरोना को देखते हुए सभी विभागों से यह जानकारी मांगी गई है कि एक दिन में वे कितने नए और कितने पुराने मरीजों को चिकित्सीय सलाह दे सकते हैं। विभागवार जानकारी एकत्रित होने के बाद प्रबंधन की बैठक होगी और उसके आधार पर आगे तय होगा कि ओपीडी में कितनी संख्या के साथ चिकित्सीय परामर्श जारी रहेगा। Read more-https://dainikindia24x7.com/up-assembly-election-firsrt-phase-voting-sp-complaint-to-ec-on-kairana-seat/

कोरोना की तीसरी लहर के बाद 7 जनवरी से AIIMS  में गैर कोराना मरीजों को भर्ती करने पर रोक थी। साथ ही ऑपरेशन भी टालने पड़े थे। बीते सप्ताह एम्स प्रबंधन ने इन निर्देशों में बदलाव करते हुए भर्ती से रोक हटा ली, लेकिन इस दौरान ओपीडी के संचालन पर लगी शर्तों को फिलहाल वापस नहीं लिया है।

अन्य अस्पताल भी जारी हो सकते हैं आदेश

ICMR के आदेश के अनुसार जल्द ही दिल्ली के अन्य अस्पताल भी भर्ती करने या सर्जरी से पहले रूटीन कोविड जांच बंद कर सकते हैं। सूत्रों के मुताबिक, सफदरजंग, डॉ. राम मनोहर लोहिया, लेडी हार्डिंग सहित अन्य अस्पताल भी इस दिशा में विचार कर रहे हैं। इसके अलावा दिल्ली सरकार के लोकनायक, जीटीबी, जीबी पंत सहित अन्य अस्पतालों में भी यह नियम लागू हो सकता है।

Tags

Related Articles

Back to top button
Close