शिक्षा/रोजगार (Education/Job)
Trending

UGC, AICTE की चेतावनी- पाकिस्तान से पढाई करने वालों को भारत में नहीं मिलेगी नौकरी

UGC और AICTE ने भारतीय स्टूडेंट्स से कहा कि पाकिस्तान के किसी संस्थान से एजुकेशन ली तो भारत में नहीं मिलेगी नौकरी  

👆भाषा ऊपर से चेंज करें

UGC Warning for Indian Students: विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (UGC) और अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद (AICTE) ने भारतीय स्टूडेंट्स से कहा कि पाकिस्तान के किसी संस्थान से एजुकेशन ली तो देश में नौकरी या अन्य शिक्षा हासिल नहीं कर पाएंगे

पाकिस्तान (pakistan) से शिक्षा (education)ली,तो भारत में नहीं मिलेगी नौकरी (job)

विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (UGC) और अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद (AICTE) ने भारतीय स्टूडेंट्स से कहा कि वह पाकिस्तान(pakistan) के किसी कॉलेज या शैक्षणिक संस्थान में एडमिशन(admission) न लें । पाकिस्तान के किसी संस्थान से एजुकेशन ली तो देश में नौकरी या अन्य शिक्षा हासिल नहीं कर पाएंगे।
एडवाइजरी (advisory)में कहा गया है कि स्टूडेंट्स को सलाह दी जाती है कि वह उच्च शिक्षा (High education)के लिए पाकिस्तान न जाएं. पाकिस्तान के किसी कॉलेज या शिक्षण संस्थान में कोई भी भारतीय नागरिक या भारतीय मूल का विदेश नागरिक (OIC) एडमिशन लेना चाहता है तो वह पाकिस्तानी प्रमाण-पत्र (certificate) के आधार पर भारत में नौकरी या उच्च शिक्षा के योग नहीं होगा।

पाकिस्तान से आए प्रवासी (Migrant) पर लागू नहीं होगा नियम

यूजीसी ने यह भी साफ किया है कि जो लोग पाकिस्तान से आए हैं उन पर यह नियम लागू नहीं होगा पाकिस्तान से आए प्रवासी (Migrant)और उनके बच्चे जिन्हें भारत द्वारा नागरिकता (Citizenship)प्रदान की गई है, वह गृह मंत्रालय (home ministry) की मंजूरी के बाद भारत में नौकरी प्राप्त कर सकते हैं। Read More: कल से शुरू होगी कॉपी चेंकिग, सुंदर लिखावट पर मिलेंगे एक्सट्रा मार्क्स

चीन (chin) के शिक्षण संस्थानों के लिए भी जारी कि थी इस तरह की एडवाइजरी

बता दें कि इससे पहले यूजीसी (UGC)और एआईसीटीई (AICTE)ने भारतीय छात्रों के लिए चीन के शिक्षण संस्थानों के संदर्भ में भी इसी तरह की एडवाइजरी जारी की थी। अब यूजीसी और एआईसीटीई की ओर से संयुक्त रूप से यह एडवाइजरी पाकिस्तान के शैक्षणिक संस्थानों के लिए जारी की गई है।

open demat account

जम्मू-कश्मीर(Jammu Kashmir) के कई छात्र (student)लेते है एडमिशन

हर साल जम्मू-कश्मीर(Jammu Kashmir) के कई छात्र पाकिस्तान के इंजीनियरिंग कॉलेजों में एडमिशन ले रहे हैं।अभी तक सैकड़ों कश्मीरी छात्र पाकिस्तान के तकनीकी कॉलेजों में एडमिशन ले चुके हैं।
AICTE का कहना है कि गैर मान्यता प्राप्त संस्थानों में पढ़ाई करने के बाद हासिल की गई डिग्री भारतीय संस्थानों की डिग्री के बराबर नहीं होती।इस तरह की इस तरह की गैर मान्यता वाले संस्थानों की डिग्री प्राप्त करने के लिए अधिक शुल्क देने के बाद भी ऐसे स्टूडेंट्स को भारत में नौकरी के अवसर प्राप्त करने में समस्या का सामना करना पड़ता है। इसी बात को ध्यान में रखते हुए यह फैसला किया गया है। Read More: प्रयागराज में एक सप्ताह में दूसरी बार मचा हड़कंप, फिर एक ही घर के पांच लोगों की हुई हत्या

पिछले साल भी तकनीकी शिक्षा परिषद के सदस्य सचिव ने इससे संबंधित आधिकारिक सूचना जारी की थी। जिसमें कहा गया था कि पाकिस्तानी संस्थानों के इंजीनियरिंग और टेक्नोलॉजी पाठ्यक्रमों में दाखिले से पहले यह एनओसी हासिल करनी जरूरी है

Tags

Related Articles

Back to top button
Close